मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया विश्राम घाटों में सेवाएँ देने वाले नौ सेवाभावियों का सम्मान

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने करुणाधाम आश्रम में आयोजित कार्यक्रम में कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया। भदभदा और सुभाष नगर विश्राम घाटों में कोरोना काल में दिवंगत नागरिकों के अंतिम संस्कार का कार्य दायित्व निभाने वाले नौ सेवाभावियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर करुणाधाम आश्रम के गुरु जी सुदेश शांडिल्य जी महाराज, मुख्यमंत्री श्री चौहान की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह और विधायक पी.सी. शर्मा उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लाड़ सिंह सेन, प्रदीप कनोजिया, जय मालवीय, विशाल कंसोटिया, राजेश हंस, योगेश नील, गोल नील, श्रीमती रेणु नील, आकाश बीलबन को सम्मानित किया।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अंतिम पंक्ति के कोरोना योद्धा आज सम्मानित हुए हैं। इनकी सेवा भावना को प्रणाम करता हूँ। कहा गया है कि परहित से बड़ा कोई धर्म नहीं होता। बीमारी अज्ञात थी। अनेक चिकित्सक भी दुनिया से चले गए। वास्तव में कठिन समय था। चिकित्सकों सहित पैरामेडिकल स्टाफ को सम्मानित किया गया, जो बहुत आवश्यक था। लेकिन समाज के इस वर्ग की समर्पित भावना प्रशंसनीय है। विश्राम घाटों में अंत्येष्टि का कार्य भी कठिन था, लेकिन ऐसे कोरोना योद्धाओं का करूणाधाम आश्रम के मंच पर सम्मान हुआ है, जो 16 संस्कारों में से अंतिम संस्कार के कार्य में जुटे थे। अपने जीवन को दांव पर लगाकर सेवा करने वाले इन सेवाभावियों का कार्य सभी सेवाओं से ऊपर है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के समय विश्राम घाटों पर निरंतर सेवा में संलग्न सेवाभावी सम्मान के पात्र हैं, उन्होंने अतुलनीय कार्य किया है। जब दिवंगत व्यक्ति के परिजन और मित्र भी वहाँ आने से हिचकते थे, तब इन सेवाभावियों ने कोरोना से दिवंगत लोगों की अंत्येष्टि का कार्य सम्मान पूर्वक किया।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आव्हान किया कि लोग असावधान न हों। केरल में मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन बहुत आवश्यक है। मध्यप्रदेश में 70 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन का प्रथम डोज़ लग चुका है। आगामी 30 सितम्बर तक इसे शत-प्रतिशत पहुँचाने का लक्ष्य है। दूसरे डोज़ के लिए भी पात्रतानुसार लोगों को जागरूक रहकर वैक्सीन का डोज़ लगवाना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि करूणाधाम आश्रम करूणा का सागर है। सुदेश शांडिल्य जी ने अपने पिता परम आदरणीय बालगोविंद शांडिल्य जी महाराज की सेवा भावना को आगे बढ़ाया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी को जन्माष्टमी पर्व की बधाई दी और कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक बने रहने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि करूणाधाम आश्रम में वैक्सीनेशन केन्द्र भी बनाया जाएगा।
सुदेश शांडिल्य जी महाराज ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रतिदिन कोरोना नियंत्रण की निरंतर समीक्षा से रोग पर नियंत्रण का कार्य हुआ। आज वैक्सीनेशन में भी मध्यप्रदेश बहुत आगे है। वैक्सीनेशन कोरोना के नियंत्रण का प्रभावी माध्यम है। इसके साथ ही मास्क के उपयोग के लिए भी मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आम जनता को जागरूक किया। विधायक पी.सी. शर्मा ने कहा कि कोरोना काल में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-प्रतिनिधियों से सहयोग लेने में सफलता प्राप्त की। विधायक, सांसद निधि और जनसंपर्क निधि से कोरोना प्रभावितों की सहायता का कार्य और अन्य सेवा कार्य संपन्न हो सके।

Check Also

स्कूल व कालेज खुले, पर बसें नहीं दौड़ी, -बस आपरेटरों की आस टूटी

भोपाल । कोविड-19 का संक्रमण घटने के बाद शहर में स्कूल व कालेज खुल गए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *