मप्र के कर्मचारियों और पेंशनरों का बढ सकता है महंगाई भत्ता व राहत


भोपाल। प्रदेश की शिवराज सरकार कर्मचारियों एवं पेंशनरों का महंगाई भत्ता व राहत बढ़ा सकती है। वर्तमान में राज्य के कर्मचारियों को 12 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिल रहा है। प्रदेश सरकार त्योहार और उपचुनाव की जल्द घोषणा की संभावना को देखते हुए यह फैसला जल्द ले सकती है। मालूम हो ‎कि केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों के लिए इसे बढ़ाकर 28 प्रतिशत कर चुकी है। लिहाजा, वित्त विभाग ने प्रस्ताव बनाकर अंतिम निर्णय के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास भेज दिया है। केंद्र सरकार के महंगाई भत्ता व राहत बढ़ाने के बाद कुछ राज्यों ने भी अपने कर्मचारियों के लिए इसमें वृद्धि कर दी है। अब प्रदेश के कर्मचारी और पेंशनर भी इसको लेकर मांग कर रहे हैं। दरअसल, प्रदेश में कमल नाथ सरकार ने पांच प्रतिशत महंगाई भत्ते में वृद्धि के आदेश कर दिए थे लेकिन कोरोना संकट की वजह से प्रभावित अर्थव्यवस्था को देखते हुए सरकार ने आदेश स्थगित कर दिया था। तब से ही महंगाई भत्ता व राहत में वृद्धि नहीं हुई है। हालांकि इस बीच कर्मचारियों को वार्षिक वेतनवृद्धि का लाभ दिया जा चुका है। वित्त विभाग ने महंगाई भत्ता व राहत में वृद्धि का प्रस्ताव बनाकर भी दे दिया है लेकिन इस पर अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है। आर्थिक गतिविधियां भी अब प्रदेश में बढ़ गई हैं और राजस्व संग्रहण की स्थिति में भी तेजी से सुधार हो रहा है। पांच प्रतिशत महंगाई भत्ते में वृद्धि पर सरकार के ऊपर लगभग साढ़े तीन सौ करोड़ रुपये का वित्तीय भार आएगा। माना जा रहा है कि खंडवा लोकसभा, पृथ्वीपुर, रैगांव और जोबट विधानसभा के उपचुनाव की जल्द घोषणा की संभावना है और त्योहार भी शुरू हो रहे हैं, इसे देखते हुए सरकार महंगाई भत्ता और राहत बढ़ाने का निर्णय कर सकती है।

Check Also

स्कूल व कालेज खुले, पर बसें नहीं दौड़ी, -बस आपरेटरों की आस टूटी

भोपाल । कोविड-19 का संक्रमण घटने के बाद शहर में स्कूल व कालेज खुल गए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *